बेटी बचाने और बेटी पढ़ाने का दावा करने वाले प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में छात्रा से खुलेआम छेड़खानी, बीएचयू प्रशासन खामोश

न्यूज कैप्चर्ड डेस्क

‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का नारा देने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील देश तो क्या, उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ही औंधे मुंह गिर गयी है.

बीते गुरूवार को बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के कला संकाय में एक छात्रा के साथ हुयी छेड़छाड़ की घटना के बाद के माहौल से ये अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं है कि राज्य सरकार से लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन न  सिर्फ इस मोर्चे पर विफल साबित हुआ है, बल्कि वह अब तक इस मामले में किसी की जवाबदेही भी तय नहीं कर सका.

गौरतलब है कि यह घटना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की  वाराणसी की दो दिवसीय यात्रा से ठीक पहले घटी, लेकिन उन्होंने भी अब तक इस मामले का कोई संज्ञान नहीं लिया है. वहीं, विश्वविद्यालय प्रशासन की ढीले और रूखे नजरिये के खिलाफ छात्राओं ने बड़ा आन्दोलन छेड़ा हुआ है.

छात्राओं का कहना है कि कला भवन पर जब वहां से गुजरती एक छात्रा को कुछ बाइक सवारों ने छेड़ा तो वहां से कुछ दूरी पर ही बीएचयू के सुरक्षाकर्मी खड़े थे, लेकिन उन्होंने उन बाइक सवारों को नहीं रोका. इतना ही नहीं, जब छात्रा अपनी शिकायत लेकर प्रशासन के पास गयी तो उल्टा प्रशासन ने छात्रा की ही गलती बतायी.

छात्राओं के गुस्से का आलम ये है कि बैचलर आफ फाइन आर्ट्स की एक छात्रा ने कैम्पस में आये दिन होने वाली छेड़छाड़ की घटना से तंग आकर विरोधस्वरूप अपना सर मुंडवा लिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here