क्या 58 लोगों को मारने वाला स्टीफ़न पैडक अपने कमरे में ‘शोर’ से परेशान था?

न्यूज कैप्चर्ड डेस्क

अमेरिका के लास वेगास शहर में बीते रविवार को एक संगीत समारोह में हुयी गोलीबारी की घटना में 58 लोगों की मौत हुयी और लगभग 500 से ज्यादा लोग घायल हुये. आधुनिक अमेरिका के इतिहास में यह गोलीबारी की सबसे बड़ी घटना थी. यही कारण है कि अमेरिका और पूरी दुनिया में इस घटना ने अपना प्रभाव छोड़ा है. वहीं अब तक इस घटना पर अमेरिका की जांच एजेंसियां और पुलिस कोई बहुत ठोस जानकारी हासिल नहीं कर सकी है.

हालांकि लास वेगास मेट्रो पुलिस के शेरिफ जोसफ लोमबार्डो ने नेवाडा में अपने पुराने रुख में बदलाव करते हुये यह कहा कि स्टीफन पैडक का इरादा लास वेगास में ही चल रहे ‘स्माल इज ब्यूटीफुल’ संगीत समारोह पर भी हमला करने का था. यह समारोह रूट-91 समारोह से कुछ दिन पहले हुआ था.

वहीं न्यूयार्क टाइम्स ने अपनी एक ताजा रिपोर्ट में यह खुलासा किया है कि घटना के दिन स्टीफन पैडक ने होटल कर्मचारियों से अपने कमरे में शोर आने की दो बार शिकायत की थी. हालांकि यह शिकायत संगीत समारोह के बारे में नहीं, बल्कि पैडक के कमरे के ठीक नीचे स्थित कमरे से आ रहे शोर के बारे में थी

आइये, समझने की कोशिश करते हैं कि यह पूरा घटनाक्रम किस तरह घटा और पुलिस अब तक इस मामले की जांच में कहां तक पहुंची है.

यह घटना अमेरिका के लास वेगास शहर में हुयी जहां एक कसीनो में संगीत का तीन दिवसीय रूट-91 हार्वेस्ट समारोह चल रहा था. जिस दिन यह घटना हुयी, वह समारोह का दूसरा दिन था. पिछले चार सालों से चल रहे इस समारोह में  घटना के वक्त हजारों लोग मौजूद थे मंच पर मशहूर कलाकार एरिक चर्च, सैम हंट और जेसन अल्डियन अपनी परफार्मेंस दे रहे थे कि तभी कुछ लोगों ने गोलीबारी की आवाजें सुनीं. देखते ही देखते चारों तरफ चीख-पुकार और अफरा तफरी मच गयी. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि उस समय होटल और आस पास की जगहों पर बदहवासी का आलम था. कुछ समय बाद वहां घायल लोग कराह रहे थे जबकि कुछ लोग दम तोड़ चुके थे.

इस घटना पर पुलिस जब तक हरकत में आयी तब तक काफी लोग मारे जा चुके थे. उसने घटना के वक्त ही संबंधित होटल और आस पास के इलाकों को घेर लिया. बाद में पुलिस ने दावा किया कि गोलीबारी  होटल की 32वीं मंज़िल से लगातार 10 मिनट तक की गयी. गोलीबारी करने वाले शख्स की पहचान पुलिस ने ‘स्टीफ़न पैडक’ के रूप में की. उसे होटल के अपने कमरे में घटना के बाद मृत पाया गया. पुलिस ने पैडक के कमरे में पाये गये कैमरों के आधार पर यह अनुमान लगाया कि उसे अपने कमरे में पुलिस के पहुंचने की सूचना मिल गयी थी.

बाद में,पुलिस ने यह दावा किया कि पैडक ने घटना से कुछ दिन पहले संबंधित होटल के 32 वीं मंजिल पर एक कमरा बुक किया था. पुलिस के अनुसार, पैडक के  कमरे से 23 हथियार बरामद किये हैं. पैडक के आवास से भी पुलिस को भारी मात्रा में गोला बारूद मिला. बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में पैडक की कार से अमोनियम नाइट्रेट विस्फोटक मिलने की बात भी लिखी है. यह भी कहा जा रहा है कि उसके कमरे से राइफल, शाट गन और ए के 47 जैसे हथियार मिले हैं जो बताता है कि उसने काफी योजनाबद्ध ढंग से इस हमले को अंजाम दिया.

वहीं पैडक की पहचान को लेकर पुलिस और अमेरिकी जांच एजेंसियां अब भी अनिर्णय की स्थिति में हैं. जो जानकारियां अब तक प्राप्त हुयी हैं, वे किसी नतीजे पर पहुंचने के लिये काफी नहीं हैं. प्राप्त जानकारी के अनुसार, उसकी स्वयं की किसी आपराधिक संलिप्तता के प्रमाण नहीं मिले हैं. पुलिस के अनुसार, उसका बचपन काफी संघर्षों में बीता है और बैंक लूटने वाले उसके पिता कभी एफबीआई की मोस्ट वांटेड लिस्ट में थे. उसने दो बार शादी हुयी और दोनों ही पत्नियों से उसके कोई संतान नहीं थी. वह जुये खेलने का शौक़ीन था और लास वेगास अपना यही शौक पूरा करने आता था. हालांकि इस्लामिक स्टेट ने उसे अपना प्रतिनिधि होने का दावा किया है कि लेकिन अमेरिकी जांच एजेंसियों और पुलिस को इस दावे पर फिलहाल यकीन नहीं है.

जाहिर है कि पैडक की तैयारी और घटना के अंजाम देने के तरीके से अमेरिका की पुख्ता कही जाने वाली सुरक्षा व्यवस्था की पोल दुनिया के सामने एक बार फिर खुली है. अमेरिकी संविधान के तहत वहां  नागरिकों को अपना निजी हथियार रखने और उसे ट्रांसफर करने की अनुमति है, लेकिन यह सवाल फिर भी अनुत्तरित है कि पैडक हथियारों का  जखीरा जमा करने में कैसे सफल हुआ?

इस घटना में कल तक एफबीआई पैडक की महिला मित्र बासठ वर्षीय मैरिलौ डेनले से महत्वपूर्ण सुराग हासिल करने की बात कह रही थी, लेकिन खबर है कि उसे यहां कोई ख़ास सफलता नहीं मिली है. घटना के वक्त वह फिलीपींस का सफ़र कर रही थीं लेकिन एफबीआई और लास वेगस पुलिस की पूछताछ के लिये वे कल अमेरिका लौटीं. उन्होंने कहा कि  देश से बाहर थी और नरसंहार के बारे में उन्हें  कोई जानकारी नहीं थी. उन्होंने कहा कि उनके पास पैडक के हथियार खरीदने के बारे में भी कोई जानकारी नहीं है. एक फिलीपीन बैंक में पैसंठ लाख रुपये (एक लाख अमेरिकी डॉलर) ट्रांसफर के सवाल पर पैडक की महिला मित्र ने सफाई दी कि पैडक ने फिलीपीन के लिए उसके परिवार का टिकट खरीदा था और एक प्रॉपर्टी खरीदने के लिए पैसे ट्रांसफर किए थे.

जाहिर है कि हमले के इरादे और मकसद के बारे में अभी पूरी तस्वीर साफ़ होना बाकी है.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here