अमेरिकी ट्रम्प की बेटी इवांका ट्रम्प पहुंची हैदराबाद, PM मोदी ने मेट्रो सर्विस का किया उद्घाटन

hyderabad metro rail project
hyderabad metro rail project

28 नवंबर से भारत का ऐतिहासिक शहर हैदराबाद भी मेट्रो ट्रेन के नक्‍शे में शामिल हो गया है। यहां देश की सबसे बड़ी पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप तरीके से बनाई गई मेट्रो सर्विस शुरू हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका उद्घाटन किया और 29 नवंबर से आम जनता इसका उपयोग कर सकेगी।

24 स्टेशन बनाए गए हैं-

फिलहाल हैदराबाद के नागोल से लेकर मियापुर के बीच लोग इसका इस्तेमाल कर सकेंगे। यह दूरी करीब 30 किलोमीटर की है। मेट्रो के सभी स्टेशनों में आने-जाने के लिए चार एंट्री गेट बनाए गए हैं। 30 किलोमीटर के नेटवर्क में 24 स्टेशन बनाए गए हैं, जो शहर के सभी महत्वपूर्ण स्‍थानों जैसेः राजीव गांधी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम, ओस्मानिया यूनिवर्सिटी, सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन और बेगमपेट तथा अमीरपेट से होकर गुजरते हैं। मेट्रो स्टेशन तक पहुंचने के लिए तेलंगाना स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (टीएसआरटीसी) फीडर बस सर्विस भी शुरू कर रहा है। शुरुआत में 50 फीडर बसों को उतारा गया है। हैदराबाद मेट्रो रेल के सभी कॉरिडोर दिसंबर 2018 तक सुचारू तरीके से काम करने लगेंगे। जून 2018 तक हाई-टेक सिटी और एलबी नगर को अमीरपेट से जोड़ दिया जाएगा। हैदराबाद मेट्रो रेल दुनिया की पहली ट्रिपल P मॉडल पर आधारित परियोजना है। अभी तक केवल बैंकॉक मेट्रो प्रोजेक्ट ही इस मॉडल पर बनाई गई थी। लेकिन वो 32 किमी के लिए बनाई गई है, जबकि हैदराबाद मेट्रो 72 किमी चलेगी। चार स्टेशन नागोल, तरनाका, प्रकाशनगर और एसआर नगर में मेट्रो स्मार्ट कार्ड बिक्री के लिए उपलब्‍ध हैं।

डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी इवांका ट्रम्प पहुंची हैदराबाद-

तीन दिन की ग्लोबल आंत्रप्रेन्योरशिप समिट मंगलवार से यहां शुरू होने जा रही है। इसमें हिस्सा लेने के लिए डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी इवांका ट्रम्प हैदराबाद पहुंच गई हैं। समिट का इनॉगरेशन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। इवांका ट्रम्प (36) इस समिट में अमेरिकी डेलिगेशन की अगुआई कर रही हैं। वे ‘वुमन आंत्रप्रेन्योरियल लीडरशिप’ सब्जेक्ट पर स्पीच देंगी। प्लेनेरी सेशन से पहले उनकी मोदी से आधे घंटे की मुलाकात होगी। 2010 में इस समिट की शुरुआत बराक ओबामा ने की थी। इसके बाद यह पहला मौका है जब किसी साउथ एशियाई देश में यह समिट हो रही है। भारत और अमेरिका इस समिट के को-होस्ट हैं। समिट की अगुआई नीति आयोग कर रहा है। इसमें 127 देशों से 1500 आंत्रप्रेन्योर्स और 300 इन्वेस्टर्स समेत करीब 2000 लोग हिस्सा ले रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here