सुर्ख‍ियों में आया अयोध्या गोलीकांड, मुलायम के ख‍िलाफ केस दर्ज

case Filed against Mulayam
case Filed against Mulayam

अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चलाने का विवाद एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है। मंगलवार को एक कारसेवक की व‍िधवा ने यूपी के पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव के ख‍िलाफ न्यायालय में हत्या और षड्यंत्र करने का परिवाद दायर कराया है। इस मामले में प्रथम अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रवींद्र दुबे ने परिवाद पर सुनवाई का आदेश सुरक्षित कर लिया है।

क्या है आरोप ?

घटना दो नवंबर, 1990 को अयोध्या में कारसेवकों पर हुई पुलिस गोलीबारी बताई गई है। गोलीबारी में मृत रमेश कुमार पांडे की विधवा गायत्री देवी के अधिवक्ता विशाल श्रीवास्तव ने परिवाद के साथ गत 27 नवंबर को प्रकाशित समाचार की प्रति भी संलग्न की है, जिसमें मुलायम सिंह यादव ने अपने 79वें जन्म दिवस पर आयोजित समारोह में सार्वजनिक रूप से कहा था कि इतनी कम सीटें अयोध्या में गोली चलवाने के बाद भी नहीं मिलीं। पीड़‍ित मह‍िला गायत्री देवी ने कहा, ”बीते 22 नवंबर को मुलायम स‍िंह ने अपने बर्थडे पर द‍िए स्पीच में अयोध्या में गोली चलवाने की बात स्वीकार क‍िया है। ऐसे में उन्हें दंड‍ित क‍िया जाए। जब भी मैं ये बात सुनती हूं तो मुझे दुख होता है। मुकदमे में कहा गया है क‍ि मुलायम सिंह यादव ने मेरे पति को गोली मरवाया था। 1990 में जो गोली चली थी उसमे मुलायम सिंह दोषी हैं। ऐसे में उन्हें आईपीसी की धारा 302 और 120B के तहत तलब कर दंड‍ित क‍िया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here