विवादित बयान: कांग्रेस ने PM मोदी को कह दिया ‘नीच’, फिर मांगी माफी, जानिए किसने क्या कहा ?

Mani Shankar Aiyer Using Bad Language To PM Modi
Mani Shankar Aiyer Using Bad Language To PM Modi

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने गुरुवार को नरेंद्र मोदी के बारे में विवादास्पद बयान दिया। जिसके बाद अय्यर ने अपने शब्दों के लिए पीएम से माफी मांगी। गुजरात में पहले चरण के मतदान से ठीक पहले आया उनका यह बयान कांग्रेस को भारी पड़ सकता है।

अय्यर का बयान-

अय्यर ने एक संवाद एजेंसी को दिए गए साक्षात्कार में मोदी के बारे में कहा, ‘ये आदमी बहुत नीच किस्म का आदमी है। इसमें कोई सभ्यता नहीं है। ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है।’ अय्यर प्रधानमंत्री के उस बयान का जवाब दे रहे थे जिसमें उन्होंने पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का नाम लिए बगैर उन पर संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर को नीचा दिखाने का आरोप लगाया है।

पीएम मोदी ने दिया जवाब-

narendra modi
narendra modi

अय्यर का बयान सामने आने के कुछ ही देर बाद गुजरात के सूरत के लिंबायत में मोदी ने रैली की। उन्होंने कहा, ‘‘एक नेता हैं। बड़ी-बड़ी यूनिवर्सिटी से उन्हाेंने डिग्री ली है। वे भारत के राजदूत रहे हैं। फॉरेन सर्विस के बड़े अफसर रहे हैं। मनमोहन सरकार में वे जवाबदार मंत्री थे। उन्होंने आज एक बात कही। श्रीमान मणिशंकर अय्यर ने आज कहा कि मोदी नीच है। मोदी नीच जाति का है। क्या यही भारत की महान परंपरा है? ये गुजरात का अपमान है। मुझे तो मौत का सौदागर तक कहा जा चुका है। गुजरात की संतानें इस तरह की भाषा का तब जवाब दे देगी, जब चुनाव के दौरान कमल का बटन दबेगा। मुझे भले ही नीच कहा है। लेकिन आप लोग अपनी गरिमा मत छोड़िएगा।’’ बता दें कि अय्यर के बयान से कॉन्ट्रोवर्सी तब खड़ी हुई है जब गुजरात में 9 दिसंबर को पहले फेज की 89 सीटों पर वोटिंग होनी है।

बीजेपी ने की निंदा-

ravi-shankar-prasad
ravi-shankar-prasad

बीजेपी यूनियन लॉ मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने कहा, “दुनिया में देश का मान बढ़ाने वाले को कांग्रेस ने नीच कहा। मैं इसकी निंदा करता हूं। अय्यर एक दरबारी नेता हैं। राजीव गांधी के करीबी दोस्त रहे हैं। पहले मोदीजी को चाय बेचने वाला कहा। कांग्रेस एक सामंती सोच वाली पार्टी है। उन्हें ये दुख है कि गरीब का बेटा कैसे पीएम बन गया। क्या उन्हें ही देश चलाने का अधिकार है।” “आज मोदीजी ने दिल्ली में अंबेडकरजी के प्रोग्राम में कहा कि वो गरीबी में पले थे। संविधान के जानकार थे। पीएम ने क्या गलत कहा। उन्होंने सिर्फ ये कहा था कि कांग्रेस पार्टी ने अंबेडकरजी को सम्मान क्यों नहीं दिया। गांधी-नेहरू परिवार के दरबारी नेता पीएम को नीच कह रहे हैं। मैं कहता हूं कि यह सब राहुल गांधी की सहमति से होता है। अब राहुल इसका जवाब दें।

राहुल ने माफ़ी मांगने को कहा-

Rahul-Gandhi
Rahul-Gandhi

अय्यर के बयान पर राहुल गांधी ने भी नाराजगी जताई। राहुल ने ट्वीट किया ‘भाजपा और पीएम कांग्रेस पार्टी के लिए गंदी भाषा का उपयोग करते हैं। लेकिन हमारी पार्टी की अलग संस्कृति है। मैं मणिशंकर द्वारा इस्तेमाल की गई भाषा को सही नहीं मानता। हमारी पार्टी और मैं चाहता हूं कि वह इसके लिए माफी मांगे।

मणिशंकर अय्यर ने मांगी माफ़ी-

mani-shankar-aiyar
mani-shankar-aiyar

बवाल होने के बाद मणिशंकर अय्यर फिर मीडिया के सामने आए। मैं फ्रीलांस कांग्रेसी हूं। कांग्रेस का ऑफिशियल स्पोक्सपर्सन नहीं। सोचा कि पीएम को उनके स्तर तक जाकर जवाब दूं।” ”मैं कोई बड़ा डिप्लोमैट नहीं रहा। हां, मैंने नीच शब्द का इस्तेमाल किया। मैं हिंदी भाषी नहीं हूं, अंग्रेजी से ट्रांसलेट करता हूं। ‘LOW’ शब्द का मतलब ‘नीच’ निकल गया। जैसे लायक और नालायक एक-दूसरे से विपरीत शब्द हैं। एक बार अटलजी के लिए भी कहा था कि वो बड़े लायक प्रधानमंत्री हैं, लेकिन नालायक काम करते हैं। मैं नालायक कहना चाह रहा था, लेकिन ‘नीच’ का मतलब, लो बोर्न निकला। मुझे इसका पता नहीं था, इसलिए माफी मांगता हूं। मैंने कभी नरेंद्र मोदी को चायवाला नहीं कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here