मदरसों में पढ़ने वाले बच्चे या तो मौलवी बनेंगे या आतंकवादी: PAK आर्मी चीफ

Pakistan Army Chief Speaks
Pakistan Army Chief Speaks

पाकिस्तान आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा ने देश में बढ़ते मदरसों और उनमें दी जाने वाली तालीम पर सवालिया निशान लगा दिए। बाजवा ने शुक्रवार को कहा, “ऐसी जगह (पाकिस्तान के मदरसों) पढ़ने वाले बच्चे या तो मौलवी बनेंगे या आतंकवादी।

आगे क्या बोले आर्मी चीफ ?

आर्मी चीफ का ये बयान हैरान करने वाला है। एक यूथ कॉन्फ्रेंस में बाजवा ने कहा, पाकिस्तान में इतनी मस्जिद नहीं बनाई जा सकतीं की मदरसे में पढ़ने वाले हर बच्चे को नौकरी मिल सके। मदरसों में बच्चों को सिर्फ मजहबी तालीम दी जाती है। यहां के स्टूडेंट्स बाकी दुनिया के मुकाबले काफी पीछे रह जाते हैं। अब जरूरत है कि मदरसों के पुराने कॉन्सेप्ट को बदला जाए। बच्चों को वर्ल्ड क्लास एजुकेशन दी जाए।” बाजवा ने कहा, “सिर्फ मदरसे में मिली तालीम से बच्चों का कोई फायदा नहीं होगा, क्योंकि यहां दुनिया में क्या चल रहा है? इस बारे में कुछ भी नहीं बताया जाता।” “देवबंद मुस्लिमों द्वारा चलाए जा रहे मदरसों में अभी करीब 25 लाख बच्चे पढ़ रहे हैं। ये खराब एजुकेशन की वजह से पिछड़ते जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here