इस जीत के लिए गुजरात और हिमाचल की जनता को शत शत नमन !

Parliamentary Board Meeting After Gujrat And Himachal Result
Parliamentary Board Meeting After Gujrat And Himachal Result

गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद नरेंद्र मोदी बीजेपी पार्लियामेंट्री बोर्ड मीटिंग की मीटिंग में शामिल होने के लिए पहुंचे। मोदी को अमित शाह ने रिसीव किया। पीएम ने शाह की पीठ थपथपाई।

गुजरात – कुल 182 सीटें

  • भारतीय जनता पार्टी – 99 सीटें
  • कांग्रेस – 77
  • नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी -1
  • भारतीय ट्राइबल पार्टी- 2
  • निर्दलीय – 3

मोदी बोले-

Parliamentary Board Meeting After Gujrat And Himachal Result
Parliamentary Board Meeting After Gujrat And Himachal Result

मोदी ने कहा- चुनाव के नतीजे बताते हैं कि लोग रिफॉर्म्स, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के लिए तैयार हैं। जनता ने विकास के रास्ते को चुना है। इसी रास्ते से समस्याएं हल होंगी। इस जीत के लिए गुजरात और हिमाचल की जनता को शत शत नमन। मोदी ने नारा दिया- “जीतेगा भई जीतेगा, विकास ही जीतेगा। देश की अपेक्षाएं बढ़ी हुई हैं। पहले की सरकारों के पास इस देश के सामान्य मानविकी के लिए मन में कुछ नहीं था। आज हर सामान्य आदमी नए सपने लेकर चल रहा है। बीजेपी आपको पसंद हो या ना हो। लेकिन, देश को विकास के रास्ते से डिरेल करने की कोशिश ना करें। जिस दिन हम हार जाएं, उस दिन आप एक महीने जश्न मनाएं। मैं कहूंगा कि अवसर आया है कि एक ऐसी सरकार है जिसमें फैसला लेने की ताकत है। नीतियां साफ सुथरी हैं। हम कलेक्टिव लीडरशिप लेकर चलते हैं। सबका साथ और सबका विकास। यही मंत्र लेकर चले हैं। यह विजय है। इस रास्ते पर जनता की मुहर लग गई। हम देश के लिए मर नहीं पाए। लेकिन, आजाद भारत को भव्य भारत बनाने के लिए हमें अवसर मिला है।

अमित शाह ने कहा-

Parliamentary Board Meeting After Gujrat And Himachal Result
Parliamentary Board Meeting After Gujrat And Himachal Result

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भारत माता के जयकारों के साथ कार्यकर्ताओं से कहा कि जीत की यह गूंज हिमाचल की पहाड़ियों से गुजरात के सागर तक जानी चाहिए। ये जीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों से मिली है। वंशवाद, जातिवाद और तुष्टिकरण पर विकासवाद की जीत है। मोदी ने देश की राजनीति से तीन नासूरों को मिटाया। गुजरात में हम छठी बार सरकार बनाएंगे। अब देश के 19 राज्यों में बीजेपी-NDA की सरकार हैं। गुजरात में सीटें घटने के सवाल पर बीजेपी प्रेसिडेंट ने कहा कि कांग्रेस ने प्रचार का स्तर गिराया और जातिवाद की राजनीति की, जबकि मोदी विकास के मुद्दे पर कायम रहे। विपक्ष के घनघोर प्रचार के बाद भी हमारा वोट शेयर 1.25% बढ़ा। गुजरात और हिमाचल की जनता को बीजेपी के कार्यकर्ताओं और मेरी तरफ बधाई देना चाहता हूं। उन्होंने हमें मोदी जी की विकास यात्रा में भागीदार बनने का मौका दिया। ये जीत हमारे कार्यकर्ताओं और जनता के विश्वास की जीत है। ये पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेंसी की जीत है। सीटें कम होने का कारण प्रचार के स्तर का गिरना है। कांग्रेस प्रचार के स्तर को बहुत नीचे ले गई। 8 फीसदी का अंतर कम नहीं होता। दो चीजों पर फोकस कर रहा हूं। एक हम जीते और दूसरा हम सरकार बना रहे हैं। वोट प्रतिशत भी बढ़ा और ये बहुत बड़ी कामयाबी है।

सत्‍ता किसके हाथों में ?

भाजपा का प्रदर्शन इस बार पहले की अपेक्षा खराब रहा है। 2012 में कांग्रेस की 61 सीटें थीं, जो बढ़कर 77 हो गईं। बीजेपी को 99 सीटें मिलीं। पिछले चुनाव में 115 सीट मिली थीं। अन्य को 6 सीटें मिलीं। जिन बड़े चेहरों पर नजर थी, उनमें से सीएम विजय रूपाणी और डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने जीत दर्ज की। अब बड़ा सवाल है कि आखिर राज्‍य की सत्‍ता किसके हाथों में सौंपी जाएगी। यहां पर ध्‍यान रखना होगा कि मौजूदा चुनाव के दौरान विजय रुपाणी भी एक मजबूत चेहरा बने हैं। उन्‍होंने राजकोट पश्चिम पर फिर से दमदार जीत हासिल की है।

कांग्रेसी खेमे में मायूसी-

Parliamentary Board Meeting After Gujrat And Himachal Result
Parliamentary Board Meeting After Gujrat And Himachal Result

रुझानों के बाद कांग्रेसी खेमे में मायूसी छा गई है। कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं की हलचल खत्म हो गई है। यहां पर लगभग सन्नाटा छाया हुआ है। गुजरात में सरकार बनाने से चूकी कांग्रेस को लेकर प्रियंका गांधी के पति और राहुल गांधी के जीजा रॉबर्ट वाड्रा ने कहा है कि हार-जीत तो लगी ही रहती है। वहीं गुजरात में कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता अशोक गहलोत का कहना है कि गुजरात में भाजपा विफल रही है। उनका यह भी कहना था कि नतीजा कुछ भी हो लेकिन कांग्रेस जीत हासिल कर रही है।

हिमाचल प्रदेश – कुल 68 सीटें, नतीजे- 66

  • भारतीय जनता पार्टी – 44 सीटें
  • सीपीएम- 1
  • कांग्रेस – 20 (एक में आगे)
  • निर्दलीय – 1 (एक में आगे)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here